ईद के दिन पहुंची बेटे की लाश, पिता ने कहा ‘देश की रक्षा के लिए बेटो को फौज में भेजते रहें ‘

नई दिल्ली। कश्मीर में भारतीय सेना के रायफल मैंन औरंगज़ेब को आतंकियों द्वारा अगवा कर हत्या किये जाने के बाद ईद के दिन उनका शव घर पहुंचा तो माहौल बेहद गमगीन हो गया।

पुंछ में औरंगजेब के पैतृक गांव सलामी में उनकी शाहदत के बाद मातम छाया हुआ है। आज यानी ईद के दिन तिरंगे में लिपटे औरंगजेब के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक स्थान पुंछ लाया गया।

वहीं, इस दुख की घड़ी में अपने बेटे की शहादत को सलाम करते हुए पिता हनीफ ने कहा, मेरे बेटे ने अपनी प्रतिज्ञा का पालन किया है, उसने अपना वादा पूरा किया।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पिता ने कहा कि बेटे औरंगजेब ने खुद को राष्ट्र के लिए त्याग दिया और मेरे पास वापस आया। मैं उग्रवाद को खत्म करने के लिए केंद्रीय और राज्य सरकारों से अनुरोध करता हूं।

इससे पहले भारतीय सेना में राइफलमैन औरंगजेब का एक वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। माना जा रहा है कि आतंकियों ने उनकी हत्या करने से पहले इस वीडियो को शूट किया है। वीडियो में आतंकी उन मुठभेड़ों के बारे में पूछताछ कर रहे हैं, जिसमें उन्होंने हिस्सा लिया था।

अधिकारियों ने बताया कि करीब 1.15 मिनट के वीडियो में औरंगजेब नीले रंग की जींस और टी शर्ट पहले हुए हैं। इसमें हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी उनकी ड्यूटी, पोस्टिंग और उन मुठभेड़ों के बारे में पूछ रहा है, जिनमें वह शामिल हुए थे। माना जा रहा है कि इसे जंगल के इलाके में शूट किया गया है।

वीडियो में औरंगजेब को एक पेड़ से बांधा हुआ है और आतंकी उसे घेरे हुए हैं। वह बंदूक की दम पर उसके खानदान, नौकरी और मेजर शुक्ला के बारे में जानकारी निकलवा रहे हैं।

गौरतलब है कि ईद मनाने के लिए छुट्टी लेकर अपने घर जा रहे सेना के जवान औरंगजेब को आतंकियों ने गुरुवार सुबह अगवा कर लिया था। औरंगजेब पुंछ जिले के रहने वाले थे. औरंगजेब का गोलियों से छलनी शव गुरुवार (14 जून) शाम को पुलवामा से बरामद हुआ था।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस और सेना के संयुक्त दल को औरंगजेब का शव कालम्पोरा से करीब 10 किलोमीटर दूर गुस्सु गांव में मिला। उनके सिर और गर्दन पर गोलियों के निशान थे। 4 जम्मू कश्मीर लाइट इन्फेंटरी के राइफलमैन औरंगजेब फिलहाल शोपियां के शादीमार्ग स्थित 44 राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें