इन पार्टियों पर मंडरा रहा राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा खत्म होने का खतरा

नई दिल्ली। देश के तीन अहम राजनैतिक दलों से राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा छीना जा सकता है। इनमे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) शामिल हैं।

दरअसल निर्वाचन प्रतीक (आरक्षण और आवंटन) आदेश, 1968 के मुताबिक किसी राजनीतिक पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा तभी मिलता है जब उसके उम्मीदवार लोकसभा या विधानसभा चुनाव में चार या अधिक राज्यों में कम से कम छह प्रतिशत वोट हासिल करें।

नियमानुसार ऐसी पार्टी के लोकसभा में भी कम से कम चार सांसद होने चाहिए। इसके अलावा कुल लोकसभा सीटों की कम से कम दो प्रतिशत सीट होनी चाहिए और इसके उम्मीदवार कम से कम तीन राज्यों से आने चाहिए।

गौरतलब है कि मौजूदा समय में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), बीएसपी, सीपीआई, माकपा, कांग्रेस, एनसीपी और नेशनल पीपल्स पार्टी ऑफ मेघालय को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त है।

माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के बाद अब चुनाव आयोग राष्ट्रीय स्तर की पार्टी होने का अस्तित्व गंवा चुके दलों को नोटिस जारी कर सकता है। यदि ऐसा हुआ तो एनसीपी, टीएमसी और सीपीआई क्षेत्रीय दल बनकर रह जायेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें