आलोक वर्मा की कौन करा रहा था जासूसी, घर के बाहर पकडे गए IB के लोग

नई दिल्ली। सीबीआई निदेशक के पद से हटाए गए आलोक वर्मा की जासूसी कर रहे चार संदिग्ध लोगों को उनके सुरक्षा गार्ड ने पुलिस के हवाले कर दिया। ये चार लोग दो गाड़ियों में सवार होकर सुबह करीब 7 बजे आलोक वर्मा के घर पहुंचे थे और घर के बाहर गाड़ियों में बैठे थे।

काफी देर तक ये लोग आलोक वर्मा के घर के पास जमे रहे। मामला संदिग्ध प्रतीत होने के बाद आलोक वर्मा के सुरक्षा गार्ड ने शोर मचाकर इन लोगों को अन्य सुरक्षा कर्मियों की मदद से पकड़ लिया और बाद में दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया।

दिल्ली पुलिस ने चारो संदिग्ध लोगों से पूछताछ की तो वे आईबी के लोग निकले। इन चारो के पास से आईबी (इंटेलिजेंस ब्युरो) के आईकार्ड भी बरामद हुए हैं। पुलिस ने सामान्य पूछताछ के बाद चारो लोगों को छोड़ दिया।

यहाँ अहम सवाल यह है कि क्या आलोक वर्मा की जासूसी की जा रही है। आखिर यह जासूसी कौन करा रहा है। सुरक्षागार्ड के मुताबिक, ये सभी आलोक वर्मा के घर के बाहर संदिग्ध गतिविधि कर रहे थे। इन लोगों के पास से कई फोन भी बरामद किए गए थे।

जिन चार लोगों को मौके से पकड़ा गया उनमे धीरज कुमार(जूनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर), अजय कुमार(जूनियर ऑफिसर इंटेलिजेंस ब्यूरो), प्रशांत कुमार( असिस्टेंट ऑफिसर इंटेलिजेंस ब्यूरो) और विनीत कुमार (असिस्टेंट ऑफिसर इंटेलिजेंस ब्यूरो) शामिल हैं।

फिलहाल सीबीआई का मामला एक बार फिर गरमा गया है। कल सुप्रीमकोर्ट में आलोक वर्मा की याचिका पर तय होगा कि इस याचिका पर सुप्रीमकोर्ट सुनवाई करेगा अथवा नहीं।

गौरतलब है कि सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी जंग के बीच, केंद्र ने सतर्कता आयोग की सिफारिश पर दोनों अधिकारियों को छु्ट्टी पर भेज दिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें