आर्थिक मंदी पर प्रियंका की सरकार को खरी खरी, पूछा ‘कब खुलेंगी सरकार की आँखें’

नई दिल्ली। देश में आर्थिक मंदी को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। प्रियंका गांधी ने सवाल किया कि आखिर मंदी पर सरकार की आखें कब खुलेंगी।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि ‘अर्थव्यवस्था मंदी की गहरी खाई में गिरती ही जा रही है। लाखों हिंदुस्तानियों की आजीविका पर तलवार लटक रही है। आखिर सरकार मंदी पर अपनी आंखें कब खोलेगी।’

उन्होंने कहा कि ‘ऑटो सेक्टर और ट्रक सेक्टर में गिरावट प्रोडक्शन-ट्रांसपोर्टेशन में निगेटिव ग्रोथ और बाजार के टूटते भरोसे का चिन्ह है। सरकार कब अपनी आंखें खोलेगी?’

प्रियंका गांधी ने आज अपने ट्वीट में एक वेबसाइट की वह खबर भी शेयर की है, जिसमें ऑटो सेक्टर के खराब हालतों का जिक्र हैं। खबर में कहा गया है कि मारुति के बाद अब अशोक लेलैंड ने अपना चेन्नई प्लांट पांच दिन बंद रखने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि देश की आर्थिक वृद्धि दर (जीडीपी ग्रोथ रेट) 2019-20 की अप्रैल-जून तिमाही में घटकर पांच फीसदी रह गई। यह पिछले छह साल से ज्यादा वक्त में न्यूनतम स्तर है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में गिरावट और कृषि उत्पादन की सुस्ती से जीडीपी वृद्धि में यह गिरावट आई है।

आर्थिक मंदी को लेकर प्रियंका गांधी केंद्र सरकार पर लगातार हमले कर रही हैं। अभी हाल ही में उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि किसी झूठ को सौ बार कहने से वह सच नहीं हो जाता ऐसे ही आर्थिक मंदी का हाल सबके सामने है। सरकार को ये स्वीकार करना चाहिए कि अर्थव्यवस्था में ऐतिहासिक मंदी है और इसे हल करने के उपायों की तरफ बढ़ना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें