आगरा में विहिप, बजरंगदल कार्यकर्ताओं ने खुले आम लहराए हथियार, प्रशासन मौन

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रियों पर हमले के बाद विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने धमकी दी है कि यदि सरकार ने इस मामले में 15 दिनों के अंदर कोई ठोस कार्रवाही नहीं की तो वे कानून अपने हाथ में ले लेंगे।

उत्तर प्रदेश के आगरा में जमा हुए बजरंगदल और विहिप कार्यकर्ताओं ने कानून की धज्जियाँ उड़ाते हुए सरेआम हथियार लहराये। प्रदर्शन के दौरान हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं के हाथो में पिस्टल, राइफल और तलवारें देखी गयीं। इसके बावजूद प्रशासन मौन देखता रहा किसी ने उन्हें रोकने और कार्यवाही करने की हिम्मत नहीं दिखाई।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई द्वारा ट्विटर पर शेयर किये गए एक वीडियो में हिंदू संगठन के नेता गोविंद पराशर ने कहा, “हम सरकार से कहना चाहते हैं कि अगर अमरनाथ हमले का बदला 15 दिन के अंदर नहीं लिया गया, तो हम श्रद्धालुओं की रक्षा के लिए खुद कानून को हाथ में लेंगे।”

बता दें कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले के बाद जहाँ देशभर में हिन्दू संगठन विरोध जता रहे हैं वहीँ हिसार में बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने अपने विरोध प्रदर्शन के दौरान एक मस्जिद के इमाम से भारत माता की जय बोलने के लिए न सिर्फ ज़बरदस्ती की बल्कि इमाम को थप्पड़ भी जड़ दिया। इतना ही नहीं बजरंगदल कार्यकर्ताओं ने ज़िंदा जलाने की धमकी भी दी।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें