आंध्र प्रदेश में किसी से गठबंधन नहीं करेगी कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज आंध्रप्रदेश के नेताओं के साथ लम्बी बैठक की। इस बैठक में आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावो को लेकर राज्य में कांग्रेस की स्थति को लेकर मंथन हुआ।

करीब करीब तीन घण्टे तक चली बैठक में अधिकांश कांग्रेस नेताओं की राय थी कि पार्टी राज्य में अकेले दम पर चुनाव लडे और किसी से गठबंधन न करे।

बैठक के बाद कांग्रेस के आंध्र प्रदेश प्रभारी ओमन चांडी ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य में उनकी पहली प्राथमिकता संगठन को मजबूत करना है और इसके लिए बूथ स्तर तक अभियान चलाया जाएगा। चांडी ने कहा कि वह हर जिले में जाएंगे और संगठन को मजबूत करने के लिए बूथ स्तर तक कार्य किया जाएगा। संगठन को मजबूत करने के लिए एक कार्य योजना भी बनाई गई है।

उन्होंने बताया कि वह इस माह की 12-13 तारीख को विजयवाड़ा गए थे, वहां प्रदेश के नेताओं से विस्तृत चर्चा की थी। चांडी ने कहा कि आंध्र प्रदेश में कांग्रेस का गठबंधन जनता के साथ होगा और पार्टी राज्य के किसी दूसरे दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

कांग्रेस के आंध्र प्रदेश प्रभारी ने कहा कि संप्रग-2 सरकार के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विशेष राज्य का दर्जा देने की बात कही थी लेकिन वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले चार साल में इसे सिर्फ लटकाया है। आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग का समर्थन करते हुए यह भी आरोप लगाया कि इस मुद्दे पर भाजपा और तेलुगू देसम पार्टी (तेदेपा) ने राज्य की जनता के साथ धोखा किया है।

चांडी के मुताबिक राहुल गांधी ने सपष्ट किया कि अगर कांग्रेस 2019 में सत्ता में आती है तो तत्काल प्रभाव से आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक गांधी के साथ आंध्र के इन कांग्रेस नेताओं की बैठक अपराह्न 11 बजे से आरंभ होकर दिन में दो बजे तक चली। इस दौरान गांधी ने नेताओं से एक एक करके अलग से भी मुलाकात की।

केरल के पूर्व मुख्यमंत्री चांडी के आंध्र प्रदेश का कांग्रेस प्रभारी नियुक्ति होने के बाद राज्य के पार्टी नेताओं के साथ गांधी की यह पहली बैठक थी। कभी एकीकृत आंध्र प्रदेश कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था लेकिन तेलंगाना राज्य बनने के बाद पिछले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन निराशाजनक रहा।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *