आंदोलन में गोडसे के रिश्तेदार की मौजूदगी के आरोप पर बिफरे अन्ना

मुंबई। हाल ही में किसानो की समस्याओं के संदर्भ में दिल्ली के राम लीला मैदान में आयोजित प्रमुख सामाजिक कार्यकर्त्ता अन्ना हज़ारे पर आरोप लगा है कि उनके आंदोलन में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का एक रिश्तेदार मौजूद था।

अन्ना के आंदोलन में नाथूराम गोडसे की रिश्तेदार कल्पना ईनामदार की मौजूदगी को आरएसएस से अन्ना के रिश्तो को जोड़कर देखे जाने से खिसियाए अन्ना हज़ारे ने कोर्ट में मामला ले जाने की धमकी दी है।

बताया जाता है कि दिल्ली के रामलीला मैदान में सम्पन्न हुए अन्ना हज़ारे के आंदोलन की मुख्य सूत्रधार कल्पना ईनामदार है, जो संघ और अन्ना हज़ारे के बीच की कड़ी है।

वहीँ खुद के आंदोलन में गोडसे के रिश्तेदार की मौजूदगी पर बिफरे अन्ना ने बृहस्पतिवार को अपने गांव रालेगढ़सिद्धी में कहा कि वह वकीलों से राय ले रहे हैं और बदनामी करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

बृहस्पतिवार को अन्ना ने इस मामले में सफाई दी है। उन्होंने कहा कि कल्पना से उनका कभी कोई संबंध नहीं रहा और मैं इससे पहले उनसे कभी नहीं मिला। कल्पना भी उन हजारों लोगों में से एक थी जिन्होंने आंदोलन में हमारा साथ दिया था। अन्ना ने कहा कि कल्पना इनामदार आंदोलन की प्रमुख नहीं थी।

अन्ना के मुताबिक समन्वय समिति के सभी कार्यकर्ताओं को अलग-अलग काम दिया गया था। इसी तरह कल्पना को भी मंडप व व्यासपीठ की जिम्मेदारी दी गई थी। महज हमें बदनाम करने के लिए इनामदार का संबंध नाथूराम गोडसे से जोड़ा गया है। अन्ना ने कहा कि मुझे अपनी बदनामी का फर्क नहीं पड़ता लेकिन इससे समाज और देश का नुकसान होता है। इसलिए यह अपमान बर्दाश्त करने योग्य नहीं है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें