असम के बाद महाराष्ट्र में लागू हो सकता है एनआरसी, ऐसे मिले संकेत

मुंबई। असम में एनआरसी लागू होने के बाद महाराष्ट्र में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) लागू किया जा सकता है। एक मीडिया रिपोर्ट की माने तो नवी मुंबई में सरकार ने हिरासत केंद्र बनाये जाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

गौरतलब है कि असम में एनआरसी की फाइनल सूची में करीब 19 लाख लोगों के नाम नहीं हैं। हालाँकि असम और केंद्र सरकार दोनों अब तक ये कहती आ रही हैं कि फिलहाल किसी को हिरासत में लिए जाने की कोई बात नहीं है इसके बावजूद असम में गुवाहाटी से कोई 160 किलोमीटर दूर हिरासत केंद्र का निर्माण कार्य जारी है।

गृहमंत्री अमित शाह द्वारा दिए गए ताजा बयान से साफतौर पर संकेत मिलते हैं किएनआरसी में जिन लोगों के नाम शामिल नहीं हैं उन्हें आज नहीं तो कल हिरासत में लेकर हिरासत केन्द्रो में रखा जाएगा।

एक मीडिया रिपोर्ट में गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्रालय ने नवी मुंबई प्लानिंग अथॉरिटी से हिरासत केंद्र बनाने के लिए जमीन देने को कहा है। यह ज़मीन नवी मुंबई के नेरुल इलाके में मांगी गयी है।

ऐसी आशंका जताई जा रही है कि असम के बाद महाराष्ट्र में एनआरसी लागू किया जा सकता है। इतना ही नहीं महाराष्ट्र में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में बीजेपी शिवसेना एनआरसी लागू करने को बड़े मुद्दे की तरह पेश कर सकते हैं।

गौरतलब है कि शिवसेना पहले से ही बांग्लादेशी लोगों के भारत में घुसपैठ का मामला उठाती रही है। इसलिए माना जा रहा है कि केंद्र ने महाराष्ट्र में एनआरसी लागू करने को लेकर पूरी छानबीन करा ली है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें