अमेरिका ने चीन से कहा “ईद से पहले हो जाए मुसलमानो की रिहाई”

वाशिंगटन। चीन में लाखो की तादाद में बंधक बनाकर रखे गए मुसलमानो को लेकर अमेरिका ने एक बार फिर कड़ा एतराज जताया है। बुधवार को अमेरिका ने चीन से कहा कि ईद के त्यौहार को ध्यान में रखकर चीन बंधक बनाये गए मुसलमानो के साथ मानवीयता दिखाए और उन्हें रिहा करे।

गौरतलब है कि मानवाधिकारों पर अमेरिका द्वारा जारी सालाना रिपोर्ट के मुताबिक चीन के शिनजियांग में दस लाख से अधिक धार्मिक अल्पसंख्यकों को कथित रूप से हिरासत में रखा गया है। वही देश के पश्चिमोत्तर क्षेत्र में रहने वाले उइगर मुसलमानों को भी बड़ी संख्या में आतंकवाद निरोधक लड़ाई की आड़ में गिरफ्तार कर रखा है।

अमेरिका के राज्य विभाग के प्रवक्ता मॉर्गन ओरटागुस ने कहा कि अब रमज़ान समाप्त होने को हैं और ईद का पर्व आने वाला है। इसलिए अब यह ज़रूरी हो गया है कि कथित तौर पर बंधक बनाये गए मुसलमानो की रिहाई सुनिश्चित की जाए।

मॉर्गन ओरटागुस ने यह भी कहा कि चीन को मानवाधिकारों का उल्लंघन तुरंत बंद कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने चीन की सरकार से बात की है जिससे कि शिनजियांग और अन्य इलाको से बंदी बनाये गए उइगर मुसलमानों को तुरंत रिहा किया जाए। जिससे कि वे ईद का पर्व मनाने के लिए अपने घरो को लौट सकें।

ओरटागुस ने कहा कि हम चीन से इन नीतियों को खत्म करने और मनमाने ढंग से गिरफ्तार किए गए मुसलमानों को रिहा करने का दबाव बनाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि अमेरिका इस मामले पर संयुक्त राष्ट्र के साथ-साथ उसके मानवाधिकार उच्चायुक्त के साथ बात कर इस मामले को प्रमुखता से उठाने की कोशिश करेगा।

बता दें कि चीन ने पूरे शिनजियांग क्षेत्र से 10 लाख से ज्यादा उइगर और अन्य मुस्लिमों को कथित तौर पर गिरफ्तार कर रखा है। अमेरिका पहले भी इस मामले को उठा चूका है और चीन पर प्रतिबंध लगाने की धमकी दे चूका है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें