अभी जेल में ही रहेंगे आसाराम, सुप्रीमकोर्ट से नहीं मिली राहत

नई दिल्ली। रेप के मामले में जेल में बंद आसाराम बापू को सुप्रींम कोर्ट से फ़िलहाल कोई राहत नहीं मिली है। आसाराम ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई कि उनकी ज़मानत अर्जी पर जल्द सुनवाई की जाए।

सुप्रीमकोर्ट ने अभी आसाराम की ज़मानत याचिका पर सुनवाई करने की कोई तारीख तय नहीं की है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा हम देखेंगे। गौरतलब है कि आसाराम ने गुजरात के सूरत में चल रहे दो महिलाओं के यौन उत्पीड़न के मामले में जमानत मांगी है।

तीन साल से जेल में बंद रहने को आधार बनाते हुए आसाराम ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत की अर्जी दी थी। इसके अलावा रेप के दोनों मामलों का ट्रायल एक साथ चलाने वाली याचिका भी खारिज कर दी है। इससे पहले जुलाई में भी कोर्ट ने आसाराम को जमानत देने से इंकार कर दिया था।

कोर्ट ने कहा अभी चंद रोज पहले ही एक और मामले में ज़मानत अर्जी खारिज की गई थी तो अब कैसे ज़मानत दे सकते हैं ? अगर ज़मानत दे भी दी जाए, तो भी आसाराम जेल से बाहर नहीं आ सकते क्योंकि दूसरे मामले में वो जेल में ही बंद रहेंगे।

आसाराम ने अपनी याचिका में यह भी मांग भी की थी कि राजस्थान और गुजरात में उनके खिलाफ रेप केस के दोनों मामलों का ट्रायल एक साथ चलाया जाए। लेकिन कोर्ट ने उनकी ये अर्जी भी खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा कि पहले राजस्थान में सुनवाई पूरी होगी, उसके बाद गुजरात के मामले में ट्रायल शुरू किया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले आसाराम बापू ने अपनी बीमारी को आधार बनाकर ज़मानत मांगी थी लेकिन उनकी मेडिकल रिपोर्ट को फर्जी पाया गया और कोर्ट ने उन्हें झूठी मेडिकल रिपोर्ट देकर जमानत की अर्जी लगाने का दोषी करार देते हुए उनपर एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के भी निर्देश दिए गए हैं। कोर्ट ने इस मामले में आसाराम की माफी को खारिज कर दिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें