अब राहुल गांधी ने की घटते निवेश पर चोट, कहा “ये मेक इन इंडिया नहीं फेक इन इंडिया है”

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। इस वार भारत में घटते निवेश को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ इन इंडिया पर चोट की।

उन्होंने ट्विटर पर एक न्यूज़ क्लिप को शेयर किया जिसमे बताया गया है कि भारत में ताजा निवेश 13 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है क्योंकि दिसंबर तिमाई में रुकी परियोजना की संख्या बढ़ गयी है।

इसमें सेंटर फार मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की परियोजनाओं पर निगाह रखने वाले आंकड़ों के हवाले से दावा किया कि भारतीय कंपनियों द्वारा 77 हजार करोड़ रुपये की नयी परियोजनाओं की घोषणाएं की गयी जो 13 साल के निम्न स्तर पर हैं।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में इन आंकड़ों को ‘फेक इन इंडिया कार्यक्रम’ की ताजा जानकारी बताया। गौरतलब है कि इससे पहले हाल ही में राहुल गांधी ने मोदी सरकार की स्मार्ट सिटी योजना को लेकर रहस्योघाटन करते हुए कहा था कि स्मार्ट सिटी योजना के लिए आवंटित धन में से अब तक सिर्फ 7% ही इस्तेमाल हुआ है।

राहुल ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्यारे मोदी भक्तों, हमारी स्मार्ट सिटी योजना के लिए आवंटित 9,860 करोड़ रूपयों में से सिर्फ सात फीसदी पैसा ही इस्तेमाल हो सका है, चीन हमें पछाड़ चुका है जबकि तुम्हारे मास्टर हमें खोखले नारे दे रहे हैं। प्लीज इस वीडियो को देखें और उन्हें रोजगार सृजन जैसे जरूरी मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दें।’

गौरतलब है कि केंद्र सरकार की बड़ी योजनाओं में से एक स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 60 शहरों को जारी किए गए 9860 करोड़ रूपये में से महज सात प्रतिशत या करीब 645 करोड़ रूपये का ही उपयोग हो पाया है जो शहरी मंत्रालय के लिए एक चिंता का कारण है।

बता दें कि स्मार्ट सिटी योजना के लिए करीब 40 शहरों में से प्रत्येक को 196 करोड़ रूपये जारी किये गये। जिसमें से अधिकतम 80.15 करोड़ रूपये अहमदाबाद ने खर्च किये हैं, इसके बाद इंदौर (70.69 करोड़ रूपये), सूरत (43.41 करोड़ रूपये) और भोपाल (42.86 करोड़ रूपये) रहे. से यह बात आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों सामने आयी है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें