अब बिहार के आश्रम में तीन साध्वियों के साथ सामूहिक रेप का खुलासा

पटना। आश्रमों के नाम पर दैहिक शोषण किये जाने का मामला अभी थमा नहीं है। आसाराम, गुरमीत बाबा राम रहीम और दिल्ली के चर्चित बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रमों में महिलाओं के साथ दुराचार के मामले प्रकाश में आने के बाद, अब बिहार के नवादा जिले के गोविंदपुर थाना अंतर्गत बहियार गाँव के पास बने संत कुटीर आश्रम में तीन साध्वियों के साथ आश्रम के ही सेवादारो द्वारा सामूहिक रेप का मामला प्रकाश में आया है।

बहियारा गांव के समीप पिछले चार सालों से चल रहे इस आश्रम में रहने वाली तीन साध्वियों से हथियार की नौक पर सामूहिक दुष्कर्म की घटना का खुलासा होने के बाद पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली तथा इस मामले में 5 नामजद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर आगे की कार्रवाही की जा रही है।

जानकारी के अनुसार जिस आश्रम में साध्वियों के साथ रेप की घटना घटी उसका नाम संत कुटीर आश्रम है और इसके प्रधान गुरु परममहंस स्वामी जी महाराज हैं तथा आश्रम की संचालक मांडवी बाई हैं। बताया गया है कि महाराज जी प्रत्येक माह की पूर्णिमा के दिन आते हैं. रात भर भक्तों को प्रवचन तथा भजन के माध्यम से भक्ति भाव का ज्ञान देते हैं।

पीड़ित साध्वियों के अनुसार पिछले 12 दिसंबर की रात हथियारों से लैस करीब 10 लोगों ने आश्रम में घुस कर घटना को अंजाम दिया था। पीड़िताओं का कहना है कि उन्होंने अपराधियों के डर से घटना की सुबह थाने में प्राथमिकी दर्ज नहीं करायी थी। बाद में घटना की जानकारी गांववालों को साध्वियों ने दी, तो गांववालों की मदद से थाने में चार जनवरी को मुकदमा दर्ज कराया गया।

संस्था के बारे में तीनों साध्वी ने बताया कि इसकी पांच संस्थाएं चल रही हैं. उन पांच में से एक नवादा जिले में भी है. यह संस्था मांडवी बाई की देखरेख में चलायी जा रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें