अब पुडुचेरी में राज्यपाल और सीएम के बीच विवाद, सड़क पर सोये सीएम नारायणसामी

पुडुचेरी। पुडुचेरी में राज्यपाल किरण बेदी से हुए विवाद के बाद मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने अपने विधायकों के साथ राज्यपाल के आवास के बाहर धरना देना शुरू कर दिया और वे सड़क पर ही सो गए।

राज्यपाल और सीएम के बीच विवाद उस समय गहरा गया,जब किरण बेदी ने राज्य में बाइक सवारों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य कर दिया जबकि मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने इसका विरोध यह कहते हुए किया कि इसे चरणवार तरीके से लागू किया जाना चाहिए तथा लागू करने से पहले जागरूकता फैलानी चाहिए।

नारायणसामी ने राज्यपाल किरण बेदी पर योजनाओं की फाइलें लटकाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मुफ्त चावल बांटने की योजना सहित 39 सरकारी प्रस्तावों को उपराज्यपाल लटकाए हुए हैं।

नारायणसामी ने कहा कि जागरुकता फैलाये बगैर बेदी ने अपने हाल के फैसले में लोगों के लिये हेलमेट पहनना अनिवार्य कर दिया है, जो ‘‘साफ तौर पर उनकी मनमानी और लोगों को प्रताड़ित करने का मामला प्रतीत होता है।”

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस संबंध में पहले लोगों में जागरुकता फैलाने का प्रस्ताव दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि उपराज्यपाल की मंजूरी के लिये पिछले कुछ सप्ताह में उन्हें 39 सरकारी प्रस्ताव भेजे गये, लेकिन उन्होंने इन प्रस्तावों पर मंजूरी नहीं दी।

सीएम नारायणसामी का आरोप है कि विभिन्न मामलों पर उनकी स्वीकृति के लिये भेजी गयीं फाइलों को उपराज्यपाल ने खारिज कर दिया। उनके इसी नकारात्मक रुख के विरोध में मुख्यमंत्री और उनके सहयोगी मंत्री काली कमीज में राज निवास के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गये हैं।

मुख्यमंत्री ने बाद में पत्रकारों से कहा कि ‘‘गरीबों एवं जरूरतमंदों के उत्थान के लिये सरकारी प्रस्तावों को लगातार खारिज किये जाने” पर वह कड़ा विरोध जताते हैं। राजनिवास के बाहर मुख्यमंत्री के धरना-प्रदर्शन में कांग्रेस और द्रमुक के कई विधायक भी शामिल हैं। राज निवास उपराज्यपाल का आधिकारिक कार्यालय सह निवास स्थान है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें