देश

अपने बयान से पलटा सुन्नी बोर्ड, कहा ‘सिब्बल ने कोर्ट में जो कहा वह सही’

नई दिल्ली। सुप्रीमकोर्ट में कल अयोध्या मामले में हुई सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल के बयान के बाद गर्मायी देश की राजनीति एक नया मोड़ आ गया है।

सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से इस मामले में पटीशनर हाजी महबूब ने बयान से यूटर्न लेते हुए आज कहा कि सुप्रीमकोर्ट में कपिल सिब्बल ने जो कुछ कहा वह सही था। उन्होंने कहा कि यदि बाबरी मस्जिद एक्शन कमेंटी के संयोजक ज़फ़रयाब जिलानी इसे सही मानते हैं तो मैं इसे स्वीकार करता हूँ।

इससे पहले सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से आये बयान में कहा गया था कि कपिल सिब्बल ने कोर्ट में जो कहा वह सही नहीं था। सुन्नी वक्फ बोर्ड इस मामले का तुरंत हल चाहता है।

गौरतलब है कि सुप्रीमकोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने इस मामले की सुनवाई 2019 तक टालने के लिए अनुरोध किया था। कपिल सिब्बल ने संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित कुछ नेताओं के हालिया बयानों का हवाला देते हुए कोर्ट से कहा था कि इस मामले का राजनैतिक फायदा उठाने की कोशिश की जाएगी।

कपिल सिब्बल की कोर्ट में की गयी इस अपील को बीजेपी ने यह कह कर विरोध किया कि कपिल सिब्बल चूँकि कांग्रेस नेता हैं इसलिए वे राम मंदिर मामले में अड़ंगा डाल रहे हैं।

स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात की एक चुनावी सभा में भी आज इस मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि कांग्रेस राम मंदिर मामले में अड़ंगा डाल रही है। वहीँ कांग्रेस ने कल इस मामले में साफ़ तौर पर कहा था कि वह अयोध्या मामले में सुप्रीमकोर्ट के निर्णय को मानने की पक्षधर है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा सुप्रीमकोर्ट में कपिल सिब्बल ने जो कुछ कहा वह सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील की हैसियत से कहा। उन्होंने बीजेपी को याद दिलाया कि भोपाल गैस काण्ड में अरुण जेटली भी वकील थे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top