अपने पुराने अंदाज में चापलूसी करते दिखे अमर सिंह

नई दिल्ली। यूँ तो अमर सिंह ने राजनीति का कोई दरवाज़ा नहीं छोड़ा जहाँ उनकी दस्तक न पड़ी हो लेकिन अधिक समय उनका समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बॉलीवुड के बादशाह कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन के साथ गुजरा है।

एक बड़े इत्तेफाक की बात यह भी है कि जिन दो लोगों के साथ अमर सिंह ने अपनी ज़िंदगी के अहम वर्ष गुजारे थे आज उन्ही से छत्तीस का आंकड़ा भी है। जब बात शुरू करते हैं तो मुलायम से अमिताभ तक सुनाने के लिए उनके पास बड़ी और इमोशनल कहानी है।

अब अमर सिंह समाजवादी पार्टी में नहीं हैं। नया ठौर ठिकाना ढूंढ रहे हैं, और खुद ही पहले से इशारा भी दे रहे हैं कि वे अब कहाँ अपना नया ठिकाना बनाने वाले हैं।

शायद यही कारण रहा होगा कि अमर सिंह जो कभी संघ, बीजेपी और हिंदुत्व से अपना छत्तीस का आंकड़ा बताते थे वे खुद आज भगवा कुर्ता पहने दिखाई दिए।

इतना ही नहीं भगवा बदन पर आते ही अमर सिंह ने पीएम मोदी और सीएम योगी की शान में कसीदे भी पढ़े। अमर सिंह ने चापलूसी में यहाँ तक कह दिया कि उनका बचा हुआ जीवन पीएम नरेंद्र मोदी को समर्पित है।

यहाँ भी अमर सिंह ने सपा बसपा पर निशाना साधने में देर नहीं लगायी और कह दिया कि बुआ बबुआ की जोड़ी से बेहतर मोदी योगी की जोड़ी है। हालाँकि यदि अमर सिंह ऐसा न भी कहते तब भी उनका भगवा कुर्ता गवाही दे रहा था कि वे बीजेपी के रंग में रंग चुके हैं।

फिलहाल देखना है कि अमर सिंह का भगवा कुर्ता बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर कितना प्रभाव डालता है। दरअसल अमर सिंह जहाँ भी जाएंगे उनकी एक शर्त साथ रहेगी। वे अपने लिए कुछ नहीं मांगेंगे लेकिन जयाप्रदा के लिए टिकिट उनकी पहली शर्त होती है। इसलिए सम्भव है कि बीजेपी में वे अपनी इस शर्त को दोहराएं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें