अन्ना हज़ारे को अब आया समझ, कहा ‘2014 में बीजेपी ने किया था मेरा इस्तेमाल’

मुंबई ब्यूरो। लोकपाल की न्युक्ति के मुद्दे पर अनशन कर रहे प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे को अब समझ आ गया है कि 2014 में बीजेपी ने सत्ता में आने के लिए उनका इस्तेमाल किया था।

सोमवार को अन्ना हज़ारे ने कहा कि ‘हां, बीजेपी ने 2014 में मेरा इस्तेमाल किया था. यह सभी को पता है कि लोकपाल को लेकर मेरी लड़ाई ने बीजेपी और आम आदमी पार्टी को सत्ता में आने में कैसे मदद की। अब मेरे मन में इनके लिए कोई इज्जत नहीं बची है।

अन्ना हज़ारे ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी लोगों को गुमराह कर रहे हैं और देश को तानाशाही की तरफ ले जा रहे हैं। अन्ना ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार भी बीते चार सालों से राज्य की जनता से झूठ पर झूठ बोल रहे हैं। यह झूठ ज्यादा दिनों तक नहीं चलेगा। केंद्र और राज्य सरकार ने देश की जनता के भरोसे को तोड़ा है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कहती है कि उनकी 90 फीसदी मांगे मांग ली गई हैं लेकिन यह एक बड़ा झूठ है। वह हमेशा कहते रहते हैं कि केंद्र और राज्य सरकार के मंत्री अलग-अलग मुद्दों पर बात करने मेरे पास आएंगे लेकिन मैंने उन्हें पहले ही मना कर दिया है। मुझे उनपर अब भरोसा नहीं रहा है यही वजह है कि मुझे अब हर चीज लिखित में चाहिए।

गौरतलब है कि अन्ना हज़ारे पिछले 6 दिनों से अनशन पर बैठे हैं। अन्ना हज़ारे ने अगस्त 2011 में जन लोकपाल विधेयक पारित करवाने के लिए दिल्ली में बड़ा आंदोलन खड़ा किया था। उस समय उनके साथ अरविन्द केजरीवाल, प्रशांत भूषण, किरण बेदी, जनरल वी के सिंह, योग गुरु बाबा रामदेव जैसे तमाम चेहरों ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

आज अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री है, किरण बेदी पुडुचेरी की राज्यपाल हैं, जनरल वीके सिंह केंद्रीय मंत्री हैं और बाबा रामदेव हरियाणा सरकार के ब्रांड एम्बेस्डर हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
Loading...