अजीत जोगी ने धर्मग्रंथो पर हाथ रखकर कहा ‘सूली पर लटका दो तो भी बीजेपी के साथ नहीं जाऊंगा’

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बीजेपी को बड़ा झटका देते हुए जनता कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने दो टूंक शब्दों में कहा कि वह किसी हाल में बीजेपी का समर्थन नहीं करेंगे।

अजीत जोगी ने कहा कि वह सूली पर लटकने को तैयार हैं लेकिन किसी भी हाल में बीजेपी के साथ नहीं जायेंगे। उन्होंने कहा कि “मैं सपने में भी नहीं सोच सकता कि भाजपा के साथ गठबंधन करूं, मैं उनको किसी शर्त पर समर्थन नहीं दूंगा और न ही उनसे समर्थन लूंगा।”

मीडिया के सामने अजीत जोगी ने आठ धार्मिक ग्रंथों की कसम खाते हुए अजीत जोगी ने कहा कि वो किसी को समर्थन नहीं देंगे और न ही समर्थन लेंगे। गौरतलब है कि हाल ही में छत्तीसगढ़ में चुनावी प्रचार में भाग लेने पहुंचे गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि “अजीत जोगी बेवजह की परेशानी उठा रहे हैं, यदि उन्हें राजनीति ही करनी थी तो बीजेपी में शामिल हो जाते।”

राजनाथ सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए अजीत जोगी ने बीजेपी के साथ जाने की तमाम अटकलों को विराम देते हुए कहा कि उनके लिए राजनीति करना इतना ज़रूरी नहीं जितना ज़रूरी बीजेपी से दूरी बनाये रखना है।

उन्होंने कहा कि वे शुरू से बीजेपी का विरोध करते रहे हैं। उनका बीएसपी के साथ गठबंधन पूरी तरह से मजबूत है। वे किसी भी हाल में न बीजेपी का समर्थन करेंगे और न ही बीजेपी से समर्थन लेंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें