अगस्ता वेस्टलैंड: सोनिया गांधी को झूठा फ़साने की साजिश का भंडाफोड़ !

नई दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल पर दबाव बनाकर सोनिया गांधी को फंसाने की साजिश को लेकर आयी मीडिया रिपोर्ट्स से हड़कंप मच गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि अगस्ता वेस्टलैंड मामले में गिरफ्तार किये गए आरोपी क्रिश्चियन मिशेल की वकील रोसमैरी पैट्रिजी और बहन शाशा ओजेनैन ने कहा है कि मोदी सरकार व उसकी कठपुतली एजेंसियां-सीबीआई/ईडी मिशेल को सोनिया गांधी को साजिश में फंसाने के लिए दबाव डाल रही हैं।

गिरफ्तार किये गए बिचौलिए के वकील ने दावा किया कि क्रिश्चियन मिशेल से ये झूठा कबूलनामा लेने की कोशिश की जा रही है कि जिस वक्त हेलिकॉप्टर डील हुई थी, तब मिशेल की यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से निजी तौर पर पहचान थी।

इतना ही नहीं वकील ने दावा किया कि मिशेल से भारतीय अधिकारियों ने ये भी कहा कि अगर वो कबूलनामे के दस्तावेज पर दस्तखत कर देता है तो उसे कैद से आजादी मिल जाएगी।  मिशेल की वकील पैट्रिजी ने मिलान से और उसकी बहन ओजेमैन ने इंग्लैंड से अलग-अलग इंटरव्यू में ये दावे किए।

इस मामले का भांडाफोड़ होने के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि ‘इस मामले में मोदी सरकार कांग्रेस को फंसाने का षड्यंत्र रच रही है और अपने काले कारनामों पर पर्दा डाल रही है। और इस षडयंत्र के बाद देश के लोग कभी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को माफ नहीं करेंगे।’

सुरजेवाला ने आगे कहा ‘दो दिन पहले ही इस मामले में क्रिस्टियन माइकल को दुबई से गिरफ्तार किए गए हैं, लेकिन उनके वकील का कहना है कि सीबीआई माइकल पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्षा सोनिया गांधी का नाम लेने के लिए दबाव बना रही है।’

उन्होंने आगे कहा ‘भारत सरकार की कठपुतली एजेंसियां सीबीआई/ईडी एक तरफ तो दुबई की अदालत में कोई भी साक्ष्य या सबूत पेश करने में विफल रहे हैं, और दूसरी तरफ क्रिश्चन मिशेल को एक षडयंत्रकारी पुर्जे की तरह इस्तेमाल कर विपक्षी नेताओं के खिलाफ दुर्भावना व पूर्वाग्रह से साजिश कर रहे हैं।’

सुरजेवाला ने कहा ‘देश के इतिहास में पहली बार किसी प्रधानमंत्री व सरकार की विपक्षी नेताओं के खिलाफ ऐसी झूठी साजिश जगजाहिर हुई है, और वो भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। क्या प्रधानमंत्री और उनकी सरकार की संलिप्तता साफ जाहिर नहीं हो जाती।

उन्होंने कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण घटनाक्रम ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि मोदी सरकार सीबीआई/ईडी को एक राजनैतिक हथियार के तौर पर राजनैतिक विरोधियों से बदला लेने के लिए इस्तेमाल कर रही है, न कि अपराधों की जांच और कानून के शासन की अनुपालना के लिए। भारतीय जनता पार्टी का चाल,चेहरा और चरित्र आज देश और दुनिया के सामने पूरी तरह बेनकाब हो गया है।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें